'टंगालॉय' का नया 88° मिलिंग कटर

Udyam Prakashan    15-Feb-2020
 
यंत्रण के लिए उपयोगी, खास प्रकार के टूल बनाने में 'टंगालॉय' कंपनी सबसे आगे है। ग्राहकोन्मुख नीति के कारण, विभिन्न प्रक्रियाओं संबंधी समस्याओं का पता लगाने का और उन पर विशेष टूल विकसित करने का काम हम हमेशा करते रहते हैं। कोल्हापुर स्थित एक उद्योग समूह ने हमसे एक मिलिंग कटर के बारे में पूछा। सिलिंडर ब्लॉक के बेरिंग कैप फेस और पैन फेस (चित्र क्र. 1) की मिलिंग करने में उन्हें कुछ समस्याएं थी। उसमें उन्हें सही फिनिश नहीं मिल रहा था, टूल की आयु कम मिल रही थी और वें कुल लागत भी घटाना चाहते थे।
 


image1_1  H x W
 
मिलिंग करते समय, खास तौर पर रफिंग ऑपरेशन को बेहतर बनाने के लिए 'टंगालॉय'ने 88° मिलिंग कटर (चित्र क्र. 2) विकसित किया है। साधारण कटर की तुलना में इसका साइड क्लियरन्स अधिक होने के कारण यह कटर कार्यवस्तु की साइड वॉल, फिक्श्चर या क्लैंपिंग व्यवस्था से (चित्र क्र. 3) टकराता नहीं है।
 

2_1  H x W: 0 x 
 

3_1  H x W: 0 x 
 
इस कटर में लगाए गए इन्सर्ट की 8 छोरों का उपयोग किया जा सकता है। टूल के इस्तेमाल का नियोजन कर के और टूल के घिसाव पर ध्यान दे कर इन्सर्ट नियत समय पर घुमाए या बदले जा सकते हैं। इससे इन्सर्ट का संपूर्ण उपयोग किया जा सकता है और टूल की लागत कम होती है।
 
पुर्जे के पृष्ठ की छोर पर मिलिंग करते वक्त, सही इन्सर्ट का उपयोग कर के अंत तक मिलिंग किया जा सकता है। इसके लिए विभिन्न इन्सर्ट उपलब्ध हैं। 0.8 मिमी. त्रिज्या वाले इन्सर्ट से, छोर पर 1.3 मिमी. तक दूरी रख कर रफ मिलिंग किया जा सकता है।
 
कटर में इन्सर्ट सही तरीके से कस कर लगाया जाए इसलिए सटीक यंत्रण कर के सीट को तीनों तरफ से आधार (सपोर्ट) दिया है और उसे M4 स्क्रू से कस कर पकड़ा जा सकता है। यंत्रण हेतु और अच्छा पृष्ठीय फिनिश आवश्यक हो तो वाइपर इन्सर्ट की सुविधा उपलब्ध है।
 
इन्सर्ट के विशिष्ट स्थान (पोजिशन) की वजह से अधिक बड़ा रेक अैंगल प्राप्त होता है। इससे यंत्रण के दौरान टूल पर बल कम हो जाता है और बड़े प्रवेश कोण के कारण पुर्जा ऊपर उठता नहीं है। साथ ही यंत्रण आसान बन जाता है।
 
इन्सर्ट की कटिंग किनार अवतल (कॉन्केव) बनी होने के कारण चिप आसानी से बाहर आती है और सेमीफिनिश तथा फिनिश ऐसे दो काट लेना आवश्यक नहीं होता। 
 

4_1  H x W: 0 x 
 
कास्ट आयरन, स्टील और स्टेनलेस स्टील जैसी विभिन्न धातुओं के पुर्जों का मिलिंग आसानी से करने हेतु चार अलग ग्रेड के इन्सर्ट इस्तेमाल किए जा सकते हैं। इस इन्सर्ट पर हमारी एक विशेष 'प्रीमियम टेक' परत चढ़ाई गई है। इससे यंत्रण के दौरान टेन्साइल स्ट्रेस नियंत्रित किया जाता है और इन्सर्ट के छोटे टुकड़े उड़ना, छोरों पर मटीरीयल इकठ्ठा होना, दरारें पड़ना आदि समस्याएं नहीं होती हैं। टूल की आयु लगभग 30% बढ़ जाती है।
 
लेख के आरंभ में उल्लीखित उद्योग समूह को हमने प्रक्रिया में कुछ बदलाव सुझाए। ब्लॉक की एक बाजू थोड़ी पतली होने के कारण मजबूत फिक्श्चर लगाया नहीं जा सकता है। ऐसी स्थिति में 'टंगालॉय' का नया 88° मिलिंग कटर (चित्र क्र. 4) अच्छी तरह से काम कर सकता है। 
 

5_1  H x W: 0 x 
 
मिलिंग करते समय साधारण शोल्डर मिल कटर का उपयोग करने पर छोरों के टुकड़े हो रहे थे। 'टंगालॉय' के इस कटर का उपयोग करने पर टूल की आयु 30 पुर्जों से 80 पुर्जों तक बढ़ी।
 

6_1  H x W: 0 x 
 
मिलिंग कटर और इन्सर्ट के विभिन्न प्रकार उपलब्ध हैं, जिनकी जानकारी हमारे कैटलॉग में दी गई है। यंत्रण के लिए कुछ मार्गदर्शक बातें बताई गई हैं। साथ ही, फेस मिलिंग करते समय बाजू पर छोर ना बचने हेतु, टूल ऑफसेट और इन्सर्ट का चयन करने संबंधी विश्लेषण भी इसमें दिया गया है।
 
 

jay shah_1  H x 
जय शाह
प्रबंधक संचालक,
टंगालॉय इंडिया प्रा. लि.
9960102221
 
जय शाह टंगालॉय इंडिया प्रा. लि. कंपनी के प्रबंधक संचालक हैं। आपको इस क्षेत्र का लगभग 15 वर्षों का तजुर्बा है।